My New Blog Visit

आप सभी से निवेदन है की आप मेरा नया ब्लॉग को Visit करे यहाँ किल्क https://ansh1tech.blogspot.com/

Breaking News

(WELLCOME FRINDS) VinaY ComputeR No(01)Website &Mai Apako New New Jankari Deta Raho Ga & To Koe Bhi Taklif Ho To Comments Kare Like Kare Share Kare Thank You.....

Saturday, August 29, 2015

Page Maker

 
Page Maker आज हम पेजमेकर के User Interface के बारे में जानेगें, Pagemaker को जब आप खोलते हैं, तो सबसे पहले यह Screen आपके सामने आती है, 
पेजमेकर खोलने पर सबसे पहले यह स्क्रीन दिखाई देती है यह पेजमेकर का User Interface है
टूलबाक्‍स (Tool Box)- यह Pagemaker में काम करते समय प्रयोग में लाये जाने वाले औजारों (Tools) का एक Box होता है, यहॉ आपको Publication बनाने में Help करने वाले 14 प्रकार के Tools Available होते हैं, असल में Pagemaker में बनी हुई Fileको Publication कहा जाता है। इसको सुविधानुसार कहीं भी खिसकाया (Moved) जा सकता है। जब Pagemaker में कोर्इ नयाPublication बनाया जाता है या पहले से बने Publication को खोला जाता है। तभी Tool Box में दिये हुए Icons दिखार्इ देने लगते है। यदि किसी कारण से Tool Box न दिखार्इ न देते तो Window Menu को Open करके Show Tools पर क्लिक करके ही ToolBox के दवारा Pagemaker में Publication के Text तथा Graphics की Editing की जा सकती है। 

स्‍टैन्‍डर्ड टूल बार (Standard Tool Bar)- Pagemaker के Menu Bar के ठीक नीचे एक पट्रटी के रूप में Standard Tool Bar दिया गया होता है, इसमें ज्‍यादातर Use में आने वाले Top Commands जैसे, New, Open, Save, Print, find आदि को Iconsके रूप में दिये गये होते हैं, जिनको आप Publication में काम करते समय सीधे Use में ला सकते हो। 

रूलर गाइड (Ruler Guides) - Page की लम्‍बाई, चौडाई बताने के लिये Ruler guides का Use किया जाता हैा लेकिन जब कि जरूरत पडे इसे भी खिसकाया जा सकता हैा  Ruler guides, Publication के Left और Top होती हैं।


कंट्रोल पैलेट(Control Palette)इसमें Font, Font Sige, Bold, italic, Underline, Line Spacing आदि Usefull आप्‍शन दिये गये होते हैं। जो Publication में काम करते समय किसी भी प्रकार की Editing करने में सहायता करता है। 

पेज बार्डर  (Page Border) - इससे Publication बनाते समय या कुछ टाइप करते समय पेज की स्थिति पता रहती है, यह पेज की बाहरी सीमाओं (Limitations) को दर्शाता है, अगर आपका Type किया गया मैटर Page Border के बाहर चला जाता है, तो वह प्रिन्‍ट निकालते समय नहीं छपता है। 

मार्जिन गाइड (Margin Guides) - जिस प्रकार Page Border से पेज की Limitations को दर्शाया जाता है, उसकी प्रकार पेज के अन्‍दर अपने Typing Areas को निर्धारित करने के लिये Margin Guides का Use किया जाता है। यह पेज पर नीले रंग से एक पतली रेखा (Thin Line) के रूप में दिखाई देती है।
अधिक जानकारी के लिए दिए गए link पर click  करे एक Rar  file Download केरे ये file MS Word में खुलेगी। 

No comments:

Post a Comment

यह पोस्ट आपको कैसी लगी Comment Box में अपना राय जरुर दे
तो मेरे FACEBOOK PAGE को LIKE करे SHARE करे COMMENT करे

Visit Now:- Vinaycomputer.in
Thank You..

About Post By Admin:-Vinay Kumar Verma

captain_jack_sparrow___vectorदोस्‍तो आप को इस ब्‍लोग के जरीये मेरे पास जो भी जानकारी है कम्‍प्‍यूटर के बारे में या जो भी जानकारी मुझे मिलती है वो जानकारी आप तक पहुचाने का प्रयास करूगा इस ब्‍लोग से आप को कम्‍प्‍यूटर से जुडी जानकारी ही नही और भी जानकारी मिलेगी आप को इस ब्‍लोग पर आने के लिये धन्‍यवाद

इस ब्लॉग की नई पोस्ट अपने ईमेल पर प्राप्त करने हेतु अपना ईमेल पता नीचे भरे:

Followers

Facebook Join Group